रुडकी : सेना में लगी नौकरी तो दो साल पहले प्रेम विवाह करने वाले युवक ने की दहेज की मांग, मामला दर्ज़  


रुडकी : दो साल पहले प्रेम विवाह करने वाले युवक की नौकरी सेना में लगी तो उसने पत्नी से दहेज की मांग शुरू कर दी। आरोपी ने अपने परिजनों के साथ मिलकर उसके साथ मारपीट भी की।

जिसके बाद पीड़ित महिला ग्रामीणों को साथ लेकर सीओ मंगलौर के पास पहुंची तथा उसने अपनी आपबीती सुनाई। पुलिस ने महिला को मेडिकल परीक्षण के लिए भेजा है। पुलिस का कहना है कि तहरीर आने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

कोतवाली क्षेत्र के एक गांव निवासी युवक ने करीब दो साल पहले नूरपुर बिजनौर निवासी एक युवती से प्रेम विवाह किया था। दोनों ने शादी को रजिस्ट्रार कार्यालय में पंजीकृत भी कराया था।

जिसके बाद युवक उसे विभिन्न स्थानों पर पत्नी के रूप में साथ रखता रहा, लेकिन अपने घर नहीं लेकर आया। कुछ दिनों के बाद युवक की नौकरी सेना में लग गई। जिसके बाद उसकी पत्नी ने उसे घर पर रखने को कहा।

आरोप है कि लगातार युवक अपनी पत्नी को बहाने बनाकर टालता रहा जब पत्नी ने अधिक दबाव डाला तो तीन दिन पहले वह उसे अपने घर ले आया। जहां पर उसके परिजनों ने उसे स्वीकार करने से इनकार कर दिया।

साथ ही उसके साथ मारपीट भी की। पीड़िता ने बताया कि उसके पति तथा उसके परिजनों द्वारा उसके साथ मारपीट की गई। इस संबंध में उसने गांव के जिम्मेदार लोगों को अपनी पीड़ा बताई तो गांव में पंचायत भी हुई।

जिसमें मामले का हल निकालने का प्रयास किया गया, लेकिन आरोपी ने पंचायत में ही खड़े होकर कह दिया कि यदि महिला के परिवार वाले दहेज में उसे कार देते हैं तो वह उसे पत्नी के रूप में स्वीकार करने के लिए तैयार है।

पंचायत के दौरान ही पीड़ित महिला द्वारा शादी किए गए रजिस्ट्रार द्वारा जारी प्रमाण पत्र की प्रति भी ग्रामीणों को दिखाई गई। मंगलवार को ग्रामीण पीड़िता के साथ सीओ मंगलौर कार्यालय पहुंचे तथा उनसे मिलकर पूरे घटनाक्रम से उन्हें अवगत कराया।

सीओ मंगलौर अभय कुमार सिंह का कहना है कि मामला संज्ञान में आया है। पीड़ित महिला को मेडिकल परीक्षण के लिए भेज दिया गया है। तहरीर मिलने पर आगे की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

दहेज उत्पीड़न में आठ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज 

दहेज उत्पीड़न में पुलिस ने पति समेत आठ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोप है कि दहेज में पांच लाख रुपये और कार की डिमांड करने के बाद मारपीट कर घर से बाहर निकाल दिया।

पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है। सिविल लाइंस कोतवाली को ढंडेरा निवासी महिला ने तहरीर देकर बताया कि अप्रैल 2020 में संजीव कुमार पाल निवासी टिहरी विस्थापित आदेश कॉलोनी नवोदय नगर रोशनाबाद के साथ विवाह हुआ था।

परिजनों ने अपनी हैसियत के मुताबिक सामान दिया था। आरोप है कि ससुरालियों ने कम दहेज का ताना देना शुरू कर दिया। दहेज में पांच लाख रुपये और कार की डिमांड की गई।

जुलाई में दहेज नहीं मिलने से नाराज ससुरालियों ने जान से मारने का भी प्रयास किया। शोर शराबा होने पर क्षेत्रवासियों ने मौके पर पहुंचकर जान बचाई थी। दहेज नहीं मिलने से नाराज ससुरालियों ने मारपीट कर घर से निकाल दिया।

एसएसआई प्रदीप कुमार ने बताया कि पति संजीव कुमार पाल, ससुर अतर सिंह, सास सुनीता, जेठ अमित, जेठानी रीना, ननद रचना, ननदोई अनुराग और आदित्य, निवासी टिहरी विस्थापित आदेश कॉलोनी नवोदय नगर रोशनाबाद के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।
 



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *